EtawahToday

दिल्ली-एनसीआर में पिछले कुछ दिनों से ठंड से राहत मिली है , जान लें मौसम विभाग का अलर्ट

देश - विदेश

नई दिल्ली: दिल्ली में शीतलहर की वजह से आज मौसम का सबसे ठंंडा दिन रहा. ताजा जानकारी के मुताबिक दिल्ली में तापमान 1.4 डिग्री सेल्सियस लुढ़क गया, जो इस सर्दी में अब तक का सबसे कम तापमान है. पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और उत्तर प्रदेश और राजस्थान के कुछ हिस्सों में भी शीत लहर की स्थिति और कोहरे की वजह से मौसम काफी सर्द रहा. आईएमडी ने कहा कि पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव में 18 जनवरी से 20 जनवरी तक न्यूनतम तापमान में धीरे-धीरे 3 से 5 डिग्री सेल्सियस की वृद्धि होगी.

राजधानी में न्यूनतम तापमान में महज दो दिनों में करीब नौ डिग्री की गिरावट आई है. कल यह 4.7 डिग्री सेल्सियस और रविवार को 10.2 डिग्री सेल्सियस था. आठ जनवरी को शहर का न्यूनतम तापमान 1.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था, जो आज से पहले इस मौसम का सबसे कम तापमान था.  अगले कुछ दिनों में उत्तर पश्चिम और मध्य भारत के कई हिस्सों में न्यूनतम तापमान में लगभग 2 डिग्री सेल्सियस की और गिरावट आने की उम्मीद है, जिसके बाद गुरुवार से तापमान में 3 से 5 डिग्री सेल्सियस की मामूली वृद्धि होगी.

दिल्ली में सोमवार सुबह शीतलहर का प्रकोप रहा और सफदरजंग वेधशाला में न्यूनतम तापमान 1.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो एक जनवरी 2021 के बाद से इस महीने सबसे कम तापमान है. लोधी रोड पर स्थित मौसम केंद्र में न्यूनतम तापमान 1.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। लोधी रोड पर ही भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) का मुख्यालय स्थित है. आईएमडी ने पहले दिल्ली में 17-18 जनवरी तक शीतलहर के लिए ओरेंज चेतावनी जारी की थी.

आईएमडी के आंकड़ों के मुताबिक, दिल्ली में पांच से नौ जनवरी तक भीषण शीतलहर चली जो एक दशक में इस महीने में प्रचंड शीतलहर की दूसरी सबसे लंबी अवधि रही. अभी तक इस महीने 50 घंटे तक घना कोहरा दर्ज किया गया जो 2019 के बाद से सबसे अधिक है. मैदानी हिस्सों में शीतलहर की घोषणा तब की जाती है, जब न्यूनतम तापमान चार डिग्री सेल्सियस तक गिर जाता है। भीषण शीतलहर की घोषणा तब की जाती है जब न्यूनतम तापमान दो डिग्री सेल्सियस तक गिर जाता है.

मौसम विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में दिन का तापमान सामान्य रहने की उम्मीद है. उन्होंने कहा, “दिल्ली में रात और सुबह के समय शीत लहर की स्थिति बनी रहेगी. ” इससे पहले, दिल्ली में 5 जनवरी से 9 जनवरी तक तीव्र शीत लहर देखी गई, जो एक दशक में महीने में दूसरी सबसे लंबी अवधि थी. शहर में जनवरी में अब तक लगभग 50 घंटे घना कोहरा दर्ज किया गया है, जो 2019 के बाद से इस महीने में सबसे अधिक है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *