EtawahToday

द कश्मीर फाइल्स को इजरायली फिल्म मेकर नादव ने कहा कि यह फिल्म प्रोपेगेंडा बेस्ड है

मूवी मस्ती

द कश्मीर फाइल्स – कश्मीरी पंडितों पर बनी फिल्म द कश्मीर फाइल इन दिनों फिर चर्चा में है. इस बार का चर्चा का विषय है IFFI 2022 का फिल्म फेस्टिवल. IFFI 2022 में जूरी हेड के बयान के बाद घमासान शुरू हो गया है. उन्होंने फिल्म को ‘वल्गर’ और ‘प्रोपेगेंडा’ बताया. इस पूरे मामले में पहले अनुपम खेर और फिल्म के डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री ने बयान दिया |

  1. द कश्मीर फाइल्स को इजरायली फिल्ममेकर नादव लापिड ने वल्गर बताया था. विवेक अग्निहोत्री की इस फिल्म पर बात करते हुए नादव ने कहा कि यह फिल्म प्रोपेगेंडा बेस्ड है और वल्गर है. सरकार की तरफ से आयोजित किए गए इस प्रेस्टीजियस फेस्टिवल में ‘द कश्मीर फाइल्स’ हमें यह मूवी एक प्रोपेगेंडा बेस्ड और वल्गर मूवी लगी. 
  2. ‘द कश्मीर फाइल्स’ को प्रोपेगेंडा बताने पर बॉलीवुड एक्टर अनुपम खेर ने ट्वीट कर अपना रिएक्शन सामने रखा है. ट्वीट में लिखा- झूठ का कद कितना भी ऊंचा क्यों न हो, सत्य के मुकाबले में हमेशा छोटा ही होता है. इसके साथ ही अभिनेता ने फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ से अपनी फोटोज़ भी शेयर कीं.
  3. जिस फेस्टिवल में नादव लापिड ने बयान दिया, वहां गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत, सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर समेत बड़े-बड़े फिल्म स्टार्स मौजूद थे.
  4. विवेक ने सीधे तौर पर विवाद का जिक्र नहीं किया. उन्होंने ट्वीट किया, ”सत्य सबसे खतरनाक चीज है. यह लोगों को झूठ बोलने पर मजबूर कर सकता है.”
  5. एक्टर दर्शन कुमार ने भी नादव लापिड के बयान की आलोचना करते हुए कहा है कि इस तथ्य से इंकार नहीं किया जा सकता कि ‘द कश्मीर फाइल्स’ ऐसी फिल्म है जो एक समुदार कश्मीरी पंडितो की दुर्दशा को दिखाती है.
  6. ‘द कश्मीर फाइल्स’ को अश्लील और प्रोपेगेंडा वाली फिल्म बताने वाले बयान पर इजरायल ने भी अपनी गलती मान ली है और भारत से इसके लिए माफी भी मांगी है.
  7. जूरी बोर्ड ने भी नादव लापिड के बयान से किनारा कर लिया. जूरी बोर्ड ने कहा, “एक जूरी के रूप में हमें फिल्म को लेकर न्याय करने के लिए नियुक्त किया गया है. हम किसी भी फिल्म पर किसी भी प्रकार की राजनीतिक टिप्पणी में शामिल नहीं होते हैं और अगर किसी की तरफ से ऐसा किया जाता है तो वह उसकी व्यक्तिगत राय होगी.”
  8. भारत में इजरायल के राजदूत नौर गिलोन ने कहा, “भारतीय संस्कृति में एक अतिथि भगवान के समान है. आपने IFFI गोवा में जूरी के पैनल की अध्यक्षता करने के लिए भारतीय निमंत्रण के साथ-साथ उस भरोसे और सम्मान का सबसे खराब तरीके से दुरुपयोग किया है, जो उन्होंने आपको दिया है.”
  9. विवेक अग्निहोत्री की इस फिल्म में अनुपम खेर, मिथुन चक्रवर्ती और पल्लवी जोशी लीड रोल में नजर आए थे. यह फिल्म कश्मीरी पंडितों की आपबीती पर बनाई गई है. बॉक्स ऑफिस पर इस फिल्म ने तगड़ी कमाई करते हुए दर्शकों को फिर एक बार सिनेमाघरों की ओर खींच लिया था.
  10. नादव लापिड के बयान का वीडियो वायरल हुआ तो बॉलीवुड स्टार्स ने भी इसपर अपना रिएक्शन दिया. अशोक पंडित ने ट्वीट कर लिखा कि ”नादव लापिड के ‘द कश्मीर फ़ाइल्स’ के लिए इस्तेमाल की गई भाषा की मैं आलोचना करता हूं, 3 लाख से भी ज्यादा कश्मीरी हिंदुओं के नरसंहार को चित्रित करना अश्लील नहीं बताया जा सकता.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *