EtawahToday

इटावा – स्वच्छता पखवाड़ा के तहत महिलाओ को सेनेटरी पैड बांटे।

इटावा सामाजिक कार्य

इटावा – कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय भारत सरकार नई दिल्ली द्वारा आयोजित स्वच्छता पखवाड़ा के अन्तर्गत जन शिक्षण संस्थान ने आज जनपद इटावा के विकासखंड भरथना के ग्राम हरचंदपुरा में महिलाओं को घर घर जाकर सैनेटरी पैड के प्रयोग के महत्व की जानकारी देते हुए सहायक कार्यक्रम अधिकारी इन्दू बाजपेयी ने कहा माहवारी कोई बीमारी नहीं है। केवल स्वच्छता की अनिवार्यता है।

मासिक माहवारी के संदर्भ में रूढि़वादी मान्यताएं है। सैनेटरी पैड उपयोग कर स्वयं बालिकाओं को भविष्य में होने वाली समस्या और संक्रमण से बचाया जा सकता है। सैनेटरी पैड को उपयोग के पश्चात फेंके नहीं, बल्कि गड्डे में दबा दे या सेनेटरी पैड और डायपर को कचरा गाड़ी के अलग बॉक्स में डाले। इधर-उधर फेंकने से बीमारियां फैलती है। सैनेटरी पेड का उपयोग व निष्पादन ही प्राथमिकता है।

ग्राम की आशा रेखा देवी ने कहा किशोरावस्था में शरीर और मस्तिष्क का विकास तेजी से होता है। इन बदलावों को समझने और उसे सकारात्मक रूप से लेने के लिए किशोरों को सही सलाह की बहुत जरूरत होती है।

खासकर 11 से 12 साल की किशोरियों में मासिक चक्र की शुरुआत होने लगती ही। बहुत सारी किशोरियों को माहवारी के दौरान सेनेटरी पैड की जरुरत और महत्व के बारे में सटीक जानकारी नहीं होती है।

साथ ही संकोचवश वह इस पर अन्य लोगों से चर्चा भी नहीं कर पाती हैं। यही समय है जब लड़कियों को इस संबंध में उचित सलाह देकर जागरूक किया जाए।

कार्यक्रम में सीमा पाण्डेय, नीलम, सुशीला देवी के साथ ग्रामीण महिलाएं उपस्थित रहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *