EtawahToday

इटावा – डॉक्टर कलाम की छंटी पुण्यतिथि में पानकुँवर इंटरनेशनल स्कूल में कार्यक्रम आयोजित किया गया।

इटावा शिक्षा सामाजिक कार्य

इटावा – आज पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल की छंटी पुण्यतिथि मनाई जा रही है। इसी कड़ी में पानकुँवर इंटरनेशनल स्कूल में भी कार्यक्रम आयोजित किया गया। प्रबन्धक कैलाश यादव ने कहा कि डॉक्टर कलाम को बैलेस्टिक मिसाइल और प्रक्षेपण यान प्रौद्योगिकी के विकास के कार्यों के लिए भारत में ‘मिसाइलमैन’ के रूप में जाना जाता है।

उन्हें भारत रत्न, भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान समेत कई प्रतिष्ठित पुरस्कार से नवाजा गया था। इन्होंने मुख्य रूप से एक वैज्ञानिक और विज्ञान के व्यवस्थापक के रूप में चार दशकों तक रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) और भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) की जिम्मेदारी संभाली थी। भारत के नागरिक अंतरिक्ष कार्यक्रम और सैन्य मिसाइल के विकास के प्रयासों में भी वह शामिल रहे थे।

युवाओं के प्रेरणा स्रोत भारत रत्न डॉ कलाम भारत को परमाणु शक्ति संपन्न बनाने में महत्त्वपूर्ण भूमिका अदा की थी।
आज डॉक्टर कलाम की छठी पुण्यतिथि के मौके पर पानकुंवर इंटरनैशनल स्कूल के प्रबंधक कैलाश चंद यादव एवं संरक्षक सेवानिवृत्त असिस्टेंट कमांडेंट सीआरपीएफ सुरेश चंद ने डॉ एपीजे अब्दुल कलाम के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें याद किया। इस अवसर पर कैलाश चंद यादव ने कहा कि हमें डॉक्टर कलाम के जीवन से अनेक शिक्षाएं मिलती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *