EtawahToday

इटावा – लायन सफारी में लगभग पांच लाख रुपये की टिकट बिक्री में हेरफेर ।

इटावा चर्चा में

इटावा – कॉंग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष उदयभान सिंह यादव ने लॉयन सफारी में हुए टिकिट घोटाले के सबन्ध में मुख्यमंत्री योगी को लिखा पत्र।

महोदय,
आपको अवगत कराना है कि विशेष सूत्रों से ज्ञात हुआ है कि इटावा लायन सफारी में लगभग पांच लाख रुपये की टिकट बिक्री में हेरफेर करके सरकारी धन को हड़प कर लिया गया है। इस संबंध में लाइन सफारी के चतुर्थ श्रेणी कर्मी सोहन सिंह को निलंबित कर दिया गया है एवं वन दरोगा अशोक शर्मा से नोटिस देकर जबाब तलब किया गया है जब कि पर्यटन परिसर टिकट बिक्री में शामिल अन्य अधिकारी व् कर्मचारी जो आउट सोर्सिंग से है उन पर कोई भी कार्यवाही नही की गई है।इस सम्बन्ध में मेरे द्वारा 26 मार्च 2021 को वन सचिव को भी पत्र लिखकर कार्यवाही की मांग की गई थी लेकिन उस पर क्या कार्यवाही हुई अभी तक अवगत नहीं कराया गया है।

समाचार पत्रों में छपी खबरों से ऐसा प्रतीत होता है कि वार्निग कर कुछ कर्मचारियो, अधिकारयों को बचाने के लिये टिकिट बिक्री में हुए घोटाले की राशि जमा कर इस मामले को रफा दफा कर बन्द कर दिया गया है, जब कि सरकारी कर्मियों के खिलाफ कार्यवाही की गई है तो फिर आउटसोर्सिंग पर काम कर रहे कर्मचारियों के विरुद्ध कार्रवाई क्यों नहीं की गई।

लायन सफारी में हुए टिकट घोटाले को लेकर एक बात कहने में कोई संकोच नहीं है कि जब 3 महीने में 95 लाख रुपए की आमद हो सकती तो केवल चंद पैसे का ही घोटाला किया गया हो इस बात मे संदेह है। इसलिये साल 2019 नबंवर से शुरू हुई लायन सफारी की आय की उच्चस्तरीय जांच की जाए बल्कि तत्कालीन सफारी निदेशकों की भी जांच के दायरे में रखा जाये।

जानकारी यह भी मिली है कि लायन सफारी के कारपस फंड में इटावा सफारी पार्क के संचालन के लिए अस्सी करोड़ रुपए फिक्स डिपॉजिट के माध्यम से बैंक में जमा किया गया था ओर जो अब तक बढ़कर लगभग 85 करोड़ हो जाना चाइये था उससे नियम विरूद्ध मूलधन में से एक करोड़ से अधिक की धनराशि खर्च कर दी गयी जब कि नियमानुसार कारपस फंड के ब्याज में 85 फीसदी की धनराशि ही लाइन सफारी पर खर्चा करने का प्रावधान है तथा पुनः15 फीसदी मूलधन में जमा करने का प्रावधान है।


लायन सफारी की लखनऊ में होने वाली बैठकों में उच्च अधिकारियों को अंधेरे में रखते हुए तथ्यों को छुपाकर बजट पास करा लिया जाता रहा है।

इस प्रकार लायन सफारी के अधिकारियों द्वारा मनमाने ढंग से वित्तीय अनियमितता करते हुए सफारी को वित्तीय संकट की ओर ले जाने और बर्बाद करने का षड्यंत्र रचा जा रहा है। इस कारण वहां पर कार्यरत कर्मचारियों को चार पांच महीनों से वेतन भी नहीं मिल पा रहा है उपरोक्त प्रकरणों की उच्च स्तरीय जांच करा कर दोषियों के विरूद्ध राजकीय हित मे कार्यवाही करने की कृपा करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *