Lion Safari

इटावा स्थित लॉयन सफारी के दो शेरों को गोरखपुर के चिड़ियाघर भेजने के फैसले पर समाजवादी पार्टी ने आपत्ति जताई है।

इटावा राजनीति

इटावा – यूपी के इटावा स्थित लॉयन सफारी के दो शेरों को गोरखपुर के चिड़ियाघर भेजने के प्रदेश सरकार के फैसले पर समाजवादी पार्टी ने आपत्ति जताई है। जिलाध्यक्ष गोपाल यादव ने शुक्रवार को पार्टी कार्यालय में प्रेस वार्ता कर कहा कि  पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का प्रोजेक्ट होने के कारण लॉयन सफारी को नहीं खोला जा रहा है।

यदि सफारी नहीं खोली गई तो सपा आंदोलन करेगी। पत्रकारों से बातचीत में सपा जिलाध्यक्ष ने कहा कि अखिलेश सरकार ने पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए सफारी का निर्माण कराया था। उनका मकसद इटावा को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करना था।

कहा कि भाजपा सरकार सैलानियों से डर रही है कि वह यहां आकर सपा सरकार की तारीफ न कर दें। इसलिए लॉयन सफारी को आम लोगों के लिए नहीं खोला जा रहा है। सफारी के शेरों को गोरखपुर ले जाने की मंशा पर सवाल उठाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री योगी यहां के शेरों को अपने संसदीय क्षेत्र में ले जाना चाहते हैं, जो जायज नहीं है। इस दौरान पूर्व सांसद प्रेमदास कठेरिया, कुलदीप गुप्ता संटू, प्रवीण दुबे, शिवम पाल, लीलावती राजपूत, वीनू तिवारी, अंकित यादव आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *