इटावा – मुंशी प्रेमचंद की किताब इटावा नुमाइश मेले में भी छाई हुई है।

इटावा

इटावा। साहित्य प्रेमियों के दिमाग से लेकर दिल तक जगह बना चुके मुंशी प्रेमचंद की किताब नुमाइश मेले में भी छाई हुई है। रविवार को इटावा महोत्सव में पुस्तक मेले का शुभारंभ हुआ तो प्रेमचंद के उपान्यासों की सबसे अधिक मांग दिखी। देश के 15 बड़े प्रकाशकों के साथ इस मेले की शुरुआत हुई जो एक मार्च तक चलेगी। डीएम श्रुति सिंह ने इसका शुभारंभ करने के बाद हर स्टाल पर जाकर अपने पसंद की किताबें भी देखी।

प्रदर्शनी कमेटी के सदस्य बाबू गिर्राज नारायण अग्रवाल के संयोजन में एक मार्च तक मेला लगेगा। डीएम श्रुति सिंह ने कहा कि पुस्तक मेले में हर आयु वर्ग के लोगों की रुचि से संबंधित किताबें मौजूद हैं।

संयोजक गिर्राज नारायण अग्रवाल ने इस अवसर पर मौजूद जिला विद्यालय निरीक्षक राजू राणा व बीएसए कल्पना सिंह से अपील की कि वे अपने विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों, प्रधानाचार्यों, अध्यापकों व विद्यार्थियों को मेला में आने के लिए कहें। इससे प्रकाशकों का उत्साहवर्धन होगा और वे अगले वर्ष अधिक पाठ्य सामग्री के साथ आएंगे। उन्होंने प्रदर्शनी कमेटी के जनरल सेक्रेटरी एसडीएम सदरर सिद्घार्थ व प्रकाशकों का भी आभार किया।

शुभारंभ कार्यक्रम का संचालन कर रहे साहित्यकार डॉ. कुश चतुर्वेदी ने कहा कि इटावा शब्द साधना का जिला रहा है, पुस्तक मेला यहां के लोगों के लिए लाभप्रद सिद्ध होगा। मेले के पहले दिन लोगों ने प्रेमचंद और श्रीलाल शुक्ल के उपन्यास खूब खरीदे। इन खरीदारों में युवा सबसे अधिक शामिल थे। इसके अलावा चेतन भगत, अमृता प्रीतम जैसे बड़े लेखक लोगों को खूब भा रहे हैं। हालांकि मेले में विद्यार्थी वर्ग भी अपनी जरूरत की किताबें लेने पहुंच रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *