इटावा – केंद्र सरकार का सम्पूर्ण स्वच्छता अभियान का सपना अभी जनपद इटावा में अधूरा ।

Uncategorized

इस खबर के माध्यम से जनपद के डॉ भीमराव अम्बेडकर जिला चिकित्सालय इटावा में बने इमरजेंसी भवन के बिल्कुल ठीक पीछे बने गंदे पानी के अस्थाई तालाब की ओर आपका आकर्षित करना चाहता हूं। जिस ठहरे हुये गंदे पानी के तालाब मे कई प्रकार के खतरनाक बैक्टीरिया सहित डेंगू एवं मलेरिया के मच्छर व कीड़े मकोड़े व अन्य जीव सपरिवार निवास करते है। व उनके आने जाने पर भी कहीं कोई प्रतिबंध नही है। इस तालाब के आस पास ही रिहायशी कॉलोनियां भी है व शिक्षा, पीडब्ल्यूडी ,पुलिस विभाग सहित कई सरकारी कार्यालय, आवास, मैरिज होम भी बने हुये है साथ ही बिल्कुल सामने ही कृषि इंजीनियरिंग कालेज से सम्बद्ध जनपद का एकमात्र मत्स्य महाविद्यालय भी स्थापित है। जिसमे कई छात्र छात्राये भी पंजिकृत है।
विदित हो कि इससे पूर्व भी इस समस्या को हमारे द्वारा पूर्व में उठाया गया था तब जिला प्रशासन से मात्र आश्वाशन ही मिला था। हमारे माध्यम से स्थानीय जनता ने यह मांग की है कि, इस तालाब की जल निकासी की समुचित व्यवस्था कर इसकी जगह एक सुंदर पार्क स्थापित कर दिया जाये जिससे की मरीजों के साथ दूर दूर से आने वाले तीमारदारों को वहाँ बैठने के लिये एक साफ सुथरी जगह भी मिल सके व जलजनित व संक्रामक बीमारियों से स्थानीय जनता सहित इमरजेंसी वार्ड में भर्ती मरीजों को गंदे पानी की बेवजह बदबू व डेंगू व मलेरिया फैलाने वाले मच्छरों से भी निजात मिल सके। एक विशेष ध्यान देने योग्य बात यह भी है कि इस अस्पताल के बाहर आसपास कोई भी सामुदायिक शौंचालय या कोई अस्थाई चल शौंचालय की व्यवस्था न होने के कारण मरीजों के साथ आने वाली कई महिला तीमारदारों व बच्चों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, साथ ही डेंगू व मलेरिया जैसी गम्भीर बीमारियों के फैलने का खतरा भी लगातार बना ही रहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *